Apple के iPhone X को पिछले साल लांच किया था जो iPhone के के नए युग की शुरुआत कहा जा सकता था क्योकि नौच-डिस्प्ले, एनीमोजी जैसे आकर्षक फीचर को पहली बार यही पर पेश किया गया था। इस साल भी एप्पल ने अपनी नयी डिवाइस आकर्षक बदलावों के साथ पेश की है। नए फ्लैगशिप फ़ोनों में आपको नवीनतम 7nm चिपसेट के साथ, स्मार्ट HDR, AMOLED स्क्रीन और नवीनतम iOS 12 ऑपरेटिंग सिस्टम दिया गया है। लेकिन कीमत को देखे तो क्या यह वाकई में अभी तक के बेस्ट iPhone साबित होते है? (iPhone Xs और iPhone XS Max review Read in English )

अगर आप भारत में रहते है और iPhone XS और iPhone XS Max अभी तक के सबसे ज्यादा कीमत वाले स्मार्टफोन सबित होते है। हमने iPhone XS और iPhone XS Max के इस रिव्यु में यही जानने की कोशिश की है की पिछले iPhone  से यह नए iPhone कितने और किस हिसाब से बेहतर है तथा एंड्राइड के सामने यह कहा पर खड़े होते है? तो चलिए शुरू करते है एप्पल के नए स्मार्टफोनों का रिव्यु:

iPhone XS Max की अनबॉक्स विडियो:

iPhone XS और iPhone XS Max स्पेसिफिकेशन

मॉडल iPhone XS iPhone XS Max
डिस्प्ले 5.8-इंच AMOLED डिस्प्ले (2436×1125), 125Hz, 60% बेहतर डायनामिक रेंज, 3D टच और डॉल्बी विज़न 6.5-इंच AMOLED सुपर रेटिना HD ट्रू-टोन डिस्प्ले ( 1242 x 2688 ) 19.5:9 रेश्यो, 3D टच और डॉल्बी विज़न
प्रोसेसर 7nm आधारित A12 Bionic चिप न्यूरल इंजन, M12 मोशन को-प्रोसेसर, क्वैड-कोर GPU. 7nm आधारित A12 Bionic चिप न्यूरल इंजन, M12 मोशन को-प्रोसेसर, क्वैड-कोर GPU.
रैम 4GB 4GB
इंटरनल स्टोरेज 64GB/256GB/512GB 64GB/256GB/512GB
सॉफ्टवेयर iOS 12 iOS 12
प्राइमरी कैमरा ड्यूल 12MP कैमरा, वाइड-एंगल लेंस f/1.8 अपर्च के साथ, टेलीफ़ोटो लेंस 2x ज़ूम के साथ और f/2.4 अपर्चर, OIS, PDAF ड्यूल 12MP कैमरा, वाइड-एंगल लेंस f/1.8 अपर्च के साथ, टेलीफ़ोटो लेंस 2x ज़ूम के साथ और f/2.4 अपर्चर, OIS, PDAF
सेकेंडरी कैमरा 7MP ट्रू डेप्थ, f/2.2 अपर्चर 7MP ट्रू डेप्थ, f/2.2 अपर्चर
माप 143.6 x 70.9 x 7.7 mm 157.5×77.4×7.7 mm
वजन 177g 208g
कनेक्टिविटी गीगाबाइट LTE, नेनो-सिम स्लॉट, eSIM, ड्यूल सिम ड्यूल स्टैंडबाई, GPS, Wi-Fi b/g/n/ac MIMO के साथ, ब्लूटूथ5.0, VoLTE, Wi-Fi कालिंग, लाइटिंग पोर्ट गीगाबाइट LTE, नेनो-सिम स्लॉट, eSIM, ड्यूल सिम ड्यूल स्टैंडबाई, GPS, Wi-Fi b/g/n/ac MIMO के साथ, ब्लूटूथ5.0, VoLTE, Wi-Fi कालिंग, लाइटिंग पोर्ट
कीमत 99,900 रुपए / 1,14,900 रुपए/ 1,34,900 रुपए 1,09,900 रुपए / 1,24,900 रुपए / 1,44,900 रुपए

यह भी पढ़िए: iPhone XS Max की खूबियाँ जो बनाती है इसको ख़ास

iPhone XS और iPhone XS Max रिव्यु: डिजाईन और बिल्ड

iPhone XS और iPhone XS Max काफी हद तक देखने में iPhone X की याद दिलाते है लेकिन नए आईफोनों में दिया गया ‘S’ फैक्टर इनको काफी ख़ास भी बनाता है। नए iPhone Xs/XSMax में निश्चित रूप से कुछ नए अपडेट मिलते है लेकिन आप उनको उतना ख़ास नहीं बोल सकते जितना iPhone X के समय इनको ख़ास कहा गया था क्योकि उनमे से काफी बदलाव तो काफी समय से एंड्राइड डिवाइसों पर उपलब्ध है।

लेकिन हाँ, एक अच्छा फोन हमेशा ही अच्छा फोन रहता है और अगर आप एक प्रशंसक खरीदार से पूछे तो यह चीज आपके लिए मायने नहीं रखती की किसने क्या चीज पहले दी। iPhone XS और iPhone XS Max में आपको बेहतर IP68 वाटर एंड डस्ट रेसिस्टेंट दिया गया है जो पिछले साल पेश किये गये iPhone X से बेहतर है। एप्पल ने यहाँ पर दावा किया है की फोन में इस्तेमाल किया गया ग्लास अभी तक का सबसे मजबूत ग्लास है और हम यह उम्मीद करते है की पिछले साल की तरह हमको कोई टूट-फूट वाली रिपोर्ट सामने ना मिले। स्टेनलेस स्टील से बने साइड फ्रेम का कलर अब बैक पैनल के कलर से मिलता है और अगर हम ऑनलाइन रिपोर्ट्स और एक्सपीरियंस की बात करे तो डिवाइस का गोल्ड फिनिश वरिएन्त काफी बेहतर प्रतीत होता है।

यहाँ पर आपको 3.5mm ऑडियो जैक नहीं दिया और कंपनी ने इस साल तो बॉक्स में ऑडियो डोंगल भी नहीं दी है। अगर आप अभी भी एनालॉग हैडफ़ोनों का इस्तेमाल करते है तो आपको अलग से डोंगल खरीदनी पड़ेगी।

iPhone XS Max थोडा बड़ा (स्क्रीन के मायने में) है लेकिन आपको कोई एक्स्ट्रा फीचर नहीं दिया गया है। अच्छी बात यही है की आपको iPhone X के मुकाबले में थोडा बड़ी बैटरी जरुर मिलती है।

तो यूजर अगर स्टैण्डर्ड X डिवाइस से थोडा बड़ा लेकिन iPhone के ‘plus’ वरिएन्त से थोडा बेहतर स्मार्टफोन चाहते है तो वो Max पर विचार कर सकते है। अगर साइज़ की बात करे तो यह iPhone XS Max एंड्राइड यूजर को मिलने वाले Samsung S9+ से लम्बाई में थोडा बड़ा होने के साथ-साथ चोड़ाई में भी थोडा अधिक है। एक हाथ से इस्तेमाल करने में आपको थोडा परेशानी हो सकती है और नए iOS 12 में भी साइज़ को लाकर कोई विकल्प नहीं दिया गया है।

लेकिन हम उम्मीद करते है की iPhone XS Max इस साल का बेस्ट सेल्लिंग वरिएन्त साबित हो सकता है।

यह भी पढ़िए: Samsung Galaxy Note 9 रिव्यु हिंदी में

iPhone XS और iPhone XS Max रिव्यु: डिस्प्ले

एप्पल के स्मार्टफोन बेहतरीन डिस्प्ले के लिए जाने जाते है। आंकड़े कुछ भी कहते रहे लेकिन iPhone X किसी भी अन्य एंड्राइड डिवाइस से काफी बेहतर नज़र आता था, एप्पल ने वही OLED डिस्प्ले का इस्तेमाल नए iPhone XS में किया है। एंड्राइड से अलग, iOS में कलर मैनेजमेंट और पिक्सेल मैट्रिक्स का उसी प्रकार काफी घना इस्तेमाल किया गया है जैसे सैमसंग अपनी AMOLED स्क्रीन में हमेशा से करता आया है।

iPhone XS Max में दी गयी बड़ी स्क्रीन (6.5-इंच) पर विडियो कंटेंट देखने का अनुभव काफी शानदार प्राप्त होता है।

एप्पल की ट्रू-टोन और नाईट शिफ्ट टेक्नोलॉजी यह सुनिश्चित करती है की स्क्रीन बेहतर बनी रहे और हर तरह की लाइटिंग में कोई परेशानी उत्पन ना करे। 120Hz टच सेंसिटिव फीचर भी काफी अंतर पैदा करता है जो यूजर को थोडा देर इस्तेमाल के बाद ही साफ़ तौर पर पसंद आएगा।

FaceID पहले से काफी तेज़ होने के साथ-साथ सुरक्षित हुई है जिसके लिए iOS 12 ज्यादा जिम्मेदार है। हमारे iPhone X में iOS 12 पर रन कर रहा है जो पहले से काफी तेज़ हो गया है। FaceID फेस अनलॉक से थोडा धीमी होती है लेकिन इसका कारण इसका ज्यादा सुरक्षित होना है। FaceID का अभी भी TouchID से स्पीड के मामले में काफी पीछे है खासकर उनके लिए जो चश्मा पहनते है। iOS 12 में एप्पल ने फेस अनलॉक के लिए एक से ज्यादा चेहरे इस्तेमाल करने की सुविधा भी प्रदान की है।

यह भी पढ़िए: Vivo V11 Pro रिव्यु हिंदी में : Poco F1 से बेहतर?

iPhone XS और iPhone XS Max रिव्यु: प्रदर्शन और सॉफ्टवेयर

नए A12 Bionic चिपसेट से नए आईफ़ोनों में प्रोसेसिंग पॉवर में बढोतरी होने के साथ-साथ पॉवर की खपत में भी कमी देखी जा सकती है। नए 7nm प्रोसेस पर आधारित यह चिपसेट काफी बेहतर NPU के साथ पेश की गयी है। एप्पल ने यहाँ पर GPU में भी काफी सुधार पेश किये है।

हमारा iPhone X आज तक भी कभी धीमा नहीं पड़ा और iOS 12 के अपडेट के बाद तो यह और भी बेहतर हो गया है। iPhone Xs और iPhone XS Max में वैसे तो कोई प्रदर्शन सुधार देखने को नहीं मिलता लेकिन यह फिर भी काफी तेज़ और विश्वसनीय है।

आपको यहाँ पर XS के दोनों मॉडल्स में 64GB, 256GB और 512GB स्टोरेज का विकल्प दिया गया है।

iOS 12 को स्पीड को ध्यान में रख कर बनाने के अलावा इसमें पिछले iPhone की कुछ कमियों को भी सुधारा गया है। डिवाइस का सॉफ्टवेयर काफी तेज़ और आसानी से इस्तेमाल होने वाला है। आपको यहाँ पर बेहतर नोटिफिकेशन सिस्टम, स्क्रीन टाइम का उपयोगी फीचर और नयी नापने की एप्लीकेशन दी गयी है जो काफी आकर्षक साबित होती है।

iPhone XS और iPhone XS Max में आपको ड्यूल सिम का भी सपोर्ट दिए गया है। लेकिन इनमे से एक सिम eSIM होगा तथा ड्यूल सिम का फीचर कुछ दिन बाद मिलने वाले सॉफ्टवेयर अपडेट के बाद इस्तेमाल के लिए उपलब्ध होगा।

iPhone XS और iPhone XS Max रिव्यु: बैटरी और ऑडियो

नए सॉफ्टवेयर iOS 12 की वजह से डिवाइस आपको 30 मिनट से ज्यादा का बैटरी बैकअप प्रदान करने में सक्षम है। दैनिक इस्तेमाल में आप मुश्किल से इस बढे हुए बैटरी बैकअप को नोटिस कर पाएंगे। एप्पल ने दावा किया है की Max वरिएन्त में आपको iPhone X की तुलना में बेहतर बैकअप मिलेगा लेकिन निजी रूप से iPhone 8Plus से तुलना करना यहाँ ज्यादा बेहतर साबित होता।

कुल मिलकर बैटरी में सुधार को कोई ख़ास बदलाव नहीं कहा जा सकता है। चार्जिंग कोइल में थोड़े से सुधार के बावजूद वायरलेस चार्जिंग को सिर्फ 7.5W तक ही सीमित रखने के अलावा एप्पल ने बॉक्स मे सिर्फ 5W का चार्जर दिया है तो आपको तेज़ चार्जिंग के लिए अलग से नया चार्जर खरीदना पड़ेगा।

स्टीरियो स्पीकर से आउटपुट काफी तेज़ और क्वालिटी में काफी बेहतर है। डिवाइस में ऑडियो जैक का ना दिया जाना मुझे आज भी थोडा कम पसंद आता है। जिन लोगो को संगीत सुनना काफी पसंद है उनको तुरंत वायरलेस हैडफ़ोन विकल्प का इस्तेमाल करना होगा लेकिन जो लोग काफी कम संगीत सुनते है उनको ब्लूटूथ स्पीकर भी इस्तेमाल करने में कोई परेशानी नहीं होगी।

यह भी पढ़िए: OnePlus 6 का 6 महीने इस्तेमाल के बाद रिव्यु हिंदी में

iPhone XS और iPhone Xs Max रिव्यु: कैमरा

कुछ साल पहले iPhone कैमरा के मामले में सबसे बेहतर साबित होते थे लेकिन अब यह बात पुरानी हो चुकी है। आज के समय में एंड्राइड के फ्लैगशिप फोन काफी हद तक iPhone के कैमरा से बेहतर प्रदर्शन करने के सक्षम है। गूगल का पिक्सेल फोन पिछले साल का सबसे बेहतरीन कैमरा फोन साबित हुआ था और सैमसंग गैलेक्सी नोट 9 और हॉनर 9 प्रो भी काफी शानदार प्रदर्शन करते है।

iPhone XS और iPhone XS Max एप्पल को वापस से कैमरा फोन की दौड़ में आगे रखने में शायद सक्षम होंगे क्योकि नए iPhone में दिया गया कैमरा साफ़ तौर पर पिछले साल लांच किये iPhone X से बेहतर साबित होता है। क्लिक की गयी इमेज बेहतर डायनामिक रेंज के साथ नए आईफोन लो-लाइट में बेहतरीन आउटपुट देते है। पास से ली गयी इमेज की क्वालिटी और मैक्रो शॉट्स में भी काफी सुधार देखने को मिलता है। स्मार्ट HDR काफी सजीव कलर कैप्चर करने में मदद करती है।

मैं पूरी उम्मीद करता हूँ की यूजर को फोटो क्लिक करने में काफी मज़ा आएगा लेकिन इस चीज को भी नकारा नहीं जा सकता की गैलरी में दिया सॉफ्टवेयर इमेज में टच-अप के साथ उनको थोडा सा वार्म-कलर टोन की तरफ झुकता हुआ दिखता है।

पिक्सेल 2 में ली गयी इमेज काफी हद तक नेचुरल और आकर्षक नज़र आती है खास तौर पर जब बात हो पोर्ट्रेट मोड की। आगामी पिक्सेल 3 और गैलेक्सी S10 भी कैमरा प्रदर्शन को नए लेवल पर ले जायेंगे तो हो सकता है की नए iPhone थोडा सा पीछे रह जाये लेकिन यह बाद की बात है।

फ्लैगशिप कैमरा फ़ोन काफी बेहतर है लेकिन अपनी निजी पसंद के अनुसार यह और भी बेहतर साबित हो सकता है। उम्मीद यही है की अधिकतर यूजर को iPhone XS और iPhone XS Max काफी पसंद आयेंगे।

नोट: ऊपर दिए गये इमेज सैंपल वेब के लिए री-साइज़ किये गये है। इमेज सैंपल को असली साइज़ में देखने के लिए Flikr एल्बम पर क्लिक करे।

iPhone XS और iPhone XS Max रिव्यु: निष्कर्ष

नए iPhone XS और iPhone XS Max अभी तक के बेस्ट स्मार्टफोन साबित होते है लेकिन कीमत को देखते है तो भारतीय ग्राहक के नज़र से यह काफी महंगे दिखाई पड़ते है। लेकिन यहाँ यह भी सच है की भारत में iPhone एक स्टेटस सिंबल की तरह है इसलिए ऐसे लोगो की कोई कमी नहीं है जो इसके लिए इतने डॉलर खर्च करने से परहेज ना करे।

लेकिन दूसरी तरफ जो लोग पहले भी अपने iPhone के लिए बजट को बढ़ा चुके है उनके लिए फिर से यह करना थोडा मुश्किल भी साबित होगा क्योकि अन्य बाजारों में यह डिवाइस थोडा कम कीमत पर उपलब्ध है तो कुछ लोग वहां से मंगवा सकते है लेकिन सब नहीं।

कुल मिलकर अगर आप एंड्राइड के विकल्प के रूप में देखे तो समान एक्सपीरियंस आपको काफी कम कीमत में प्राप्त हो जायेगा उदाहरण के लिए,  Galaxy Note 9 आपको लगभग 67,000 रुपए की कीमत में प्राप्त होता है और अगर कैशबैक ऑफर को भी देखें तो कीमत और भी कम नज़र आती है।

iPhone XR कंपनी का ‘किफायती स्मार्टफोन’ भी इंडिया में किफायती कीमत पर उपलब्ध नहीं है जिसके बावजूद हमको IPS LCD डिस्प्ले से संतोष करना पड़ता है। हम कम ही उम्मीद करते है की यह डिवाइस एक अच्छा विकल्प साबित होगा क्योकि अगर आप 76 हजार तक अपने बजट को बढ़ाते है तो आप OLED पैनल की उम्मीद जरुर करते है जो कही न कही सही भी है।

खूबियाँ

  • शानदार डिस्प्ले
  • दमदार चिपसेट
  • प्रीमियम डिजाईन
  • अच्छा कैमरा

कमियाँ

  • बैटरी बैकअप
  • ऑडियो जैक का ना होना
  • बॉक्स में फ़ास्ट चार्जर ना होना

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here