हाल ही में भारत पाकिस्तान के मैच के दौरान अमिताभ बच्चन जी द्वारा OnePlus 6T की एक झलक TV पर दिखाई गयी थी जिसका साथ यह भी साफ़ तौर पर बताई गयी की यह डिवाइस जल्द ही लांच होने वाली है। लेकिन आज भी OnePlus 6 एक काफी लोकप्रिय विकल्प के तौर पर बाज़ार में उपलब्ध है। Asus Zenfone 5Z (रिव्यु) और Poco F1 (रिव्यु) वैसे तो कम कीमत पर पेश किये गये है लेकिन यह अभी भी OnePlus 6 का एक उपयुक्त विकल्प साबित नहीं हो पाए है। आगामी OnePlus 6T में भी कुछ आकर्षक बदलाव दिए जा सकते है क्योकि आधिकारिक रूप से यह सुनिश्चित हो गया है की अब यहाँ पर ऑडियो जैक नहीं दिया जायेगा तथा फिंगरप्रिंट सेंसर को पीछे की जगह सामने इन-डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर के रूप में दिया जायेगा। (Read in English)

अगर आप OnePlus 6T के लिए इन्तजार नहीं कर सकते है और अभी एक नयी डिवाइस लेना चाहते है  तो क्या OnePlus 6 अभी भी एक बेहतर विकल्प साबित होगी?

हम OnePlus 6 को काफी दिनों से इस्तेमाल कर रहे है और इतने दिनों में हमारा फोन के साथ अनुभव कैसा रहा वही जानते है OnePlus 6 के लॉन्ग -टर्म रिव्यु में। तो चलिए शुरू करते है:

OnePlus 6 स्पेसिफिकेशन

मॉडल OnePlus 6
डिस्प्ले 6.28-इंच ऑप्टिक AMOLED FHD+ 19:9 आस्पेक्ट रेश्यो, गोरिल्ला ग्लास 5
प्रोसेसर स्नैपड्रैगन 845 चिपसेट, Adreno 630 GPU
रैम 6GB/8GB LPDDR4x
आंतरिक स्टोरेज 64GB/128GB/256GB (UFS 2.1)
सॉफ्टवेयर एंड्राइड ओरियो आधारित Oxygen OS
प्राथमिक कैमरा 16MP (f/1.7) + 20MP (f/1.7), EIS, OIS
सेकेंडरी कैमरा 16MP, (f/2.0)
माप और भार
बैटरी 3300mAh डैश चार्जिंग सपोर्ट
अन्य ड्यूल सिम, ड्यूल बैंड 4G VoLTE, ब्लूटूथ, Wi-Fi, NFC,GPS, 3.5mm ऑडियो जैक, फिंगरप्रिंट सेंसर, डैश चार्जर
कीमत  Rs. 35,999/ Rs. 39,999 / 44,999 रुपए

यह भी पढ़िए: Vivo V11 Pro का रिव्यु हिंदी में

OnePlus 6 लॉन्ग-टर्म रिव्यु: बिल्ड क्वालिटी

OnePlus उन चुनिन्दा स्मार्टफोन ब्रांड में से एक है जो सिर्फ iPhone की कॉपी करने की जगह आपको एक अलग और ओरिजिनल डिजाईन देने में विश्वास रखता है। अपने OnePlus 6 के साथ कंपनी ने मेटल और ग्लास डिजाईन को पहली बार इस्तेमाल किया जो पिछले 6 महीने के दैनिक उपयोग के बाद भी काफी बेहतर और आकर्षक महसूस होता है। OnePlus 6 में दिया गया मजबूत रियर ग्लास पैनल भी हमको काफी प्रभावित करता है।

काफी बार अचानक हमारे हाथ से या टेबल पर से डिवाइस नीचे गिरी है लेकिन हर बार यह हमको अपनी मजबूती का प्रमाण देती है। OnePlus 6 के लांच इवेंट में ही कंपनी ने बताया था की यह डिवाइस पर दिया गया ग्लास सामान्य ग्लास से 3 गुना ज्यादा मजबूत है और इतने दिन के इस्तेमाल के बाद मैं निजी रूप से कह सकता हूँ की डिवाइस की बिल्ड-क्वालिटी काफी बेहतरीन और उच्च दर्जे की साबित होती है।

कर्व बैक पैनल भी यह सुनिश्चित करता है की डिवाइस को पकड़ने में किसी तरह की कोई परेशानी ना हो। 6 महीने इस्तेमाल के बाद भी पॉवर और वॉल्यूम बटन अभी भी काफी आसानी और तेज़ी से काम करते है। ऐसे ही रियर पैनल पर दोइया गया फिंगरप्रिंट सेंसर भी पहले की ही तरह तेज़ और सटीक बना हुआ है। वैसे यह आखरी अनुभव डिस्प्ले फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है।

OnePlus 6 लॉन्ग-टर्म रिव्यु: डिस्प्ले

OnePlus 6 में आपको सबसे जल्दी नौच-डिस्प्ले प्रदान की गयी थी जिसकी बाद हर ब्रांड ने नौच को अपनाते हुए अबनौच के आकार में भी काफी परिवर्तन कर दिए है। मुझे निजी रूप से नौच कुछ ख़ास प्रभावित नहीं करती है इसलिए शुरूआती इस्तेमाल में नौच हो छुपाये ही रखता था लेकिन समय के साथ नौच-डिस्प्ले मुझे पसंद आने लगी और अभी नौच हमेशा ऑन ही रहती है।

काफी अलग-अलग नौच डिस्प्ले युक्त डिवाइसों को इस्तेमाल करने के बाद अब हमको यह नौच कुछ खास परेशानी का विषय नहीं लगती है जिस कारन इसको अप ऑन करके भी डिवाइस को आराम से इस्तेमाल किया जा सकता है। OnePlus ने यहाँ पर OTA अपडेट द्वारा स्टेटस बार में बैटरी परसेंटेज दिखने की भी सुविधा उपलब्ध करवा दी है।

आश्चर्यजनक रूप से OnePlus 6T में सामान्य नौच की जगह वाटर-ड्राप नौच का इस्तेमाल किया जायेगा जो मुझे सामान्य नौच-डिस्प्ले से काफी बेहतर और पसंद आती है।

हमेशा की तरफ OnePlus 6 में आपको OLED डिस्प्ले FHD+ रेज़ोलुशन के साथ दिया गया है। पिछले 6 महीने से हमे डिवाइस की डिस्प्ले से जुडी कोई परेशानी सामने नहीं आई है और हमेशा संतुलित कलर के साथ गहरा कला रंग ही प्राप्त हुआ है। डिस्प्ले सेटिंग्स में से आप अपनी आँखों के अनुकूल अलग-अलग कलर प्रोफाइल में से किसी को भी चुन सकते है।

धुप में भी डिवाइस को इस्तेमाल करने में कोई ख़ास परेशानी नहीं होती है लेकिन हाँ इसकी तुलना सैमसंग के फ्लैगशिप या iPhone फ़ोनों से तुलना नहीं कर सकते है। अधिकतर समय ऑटो-ब्राइटनेस काफी बेहतर काम करती हुई नज़र आती है।

यह भी पढ़िए: Samsung Galaxy Note 9 का रिव्यु हिंदी में

OnePlus 6 लॉन्ग-टर्म रिव्यु: सॉफ्टवेयर और प्रदर्शन

आज के समय में अधिकतर सभी लोग OnePlus 6 के हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बारे में भली-भांति परिचित है। खासकर के सॉफ्टवेयर तो काफी बेहतर साबित होता दिखाई देता है। OnePlus 6 उन कुछ चुंनिंदा डिवाइसों में से एक है जिसमे एंड्राइड पाई का अपडेट मिलता है जो इसको और भी बेहतर बनाता है। जैसा की हम हमेशा कहते है OnePlus का Oxygen OS अभी तक के सबसे बेहतरीन एंड्राइड आधारित स्किन में से एक है और एंड्राइड पाई के अपडेट के बाद भी यह उसी प्रकार आकर्षक बना रहता है।

Oxygen OS के नवीनतम बीटा वर्जन 3 में आपको एंड्राइड फीचर के साथ Oxygen OS का कस्टमाइजेशन भी मिलता है। एंड्राइड पाई के अपडेट के बाद आपको डिवाइस में काफी बदलाव देखने को मिलेंगे जैसे गोलाकार क्विक सेटिंग टाइल, नोटिफ़िकेशन शेड, और सेटिंग मेनू आदि। OnePlus में आपको एंड्राइड पाई का जेस्चर के साथ-साथ स्टैण्डर्ड एंड्राइड नेविगेशन बार के साथ अपने खुद के जेस्चर भी दिए है जो काफी उपयोगी साबित होते है।

सॉफ्टवेयर में आपको पैरेलल एप्लीकेशन और एप्लीकेशन लाकर की सुविधा भी मिलती है जो उन लोगों को काफी पसंद आएँगी जो अलग-अलग अकाउंट के साथ-साथ अपनी पर्सनल फाइल्स को भी फोन में रखते है। नवीनतम बीटा अपडेट के साथ अब आप Ola और Uber पर भी अलग-अलग अकाउंट इस्तेमाल कर सकते है।

OnePlus की टैग-लाइन ‘Never Settle’ प्रदर्शन के मामले में बिलकुल सही साबित होती है। OnePlus 6 में PUBG को अधिकतम ग्राफ़िक सेटिंग पर इस्तेमाल करने पर भी कोई परेशानी सामने नहीं आती है और गेम एक दम आराम से काफी देर तक खेला जा सकता है।

कुल मिलकर अगर आप प्रदर्शन को महत्वपूर्ण मानते है तो OnePlus 6 अभी भी काफी बेहतर साबित होता है।

यह भी पढ़िए:

OnePlus 6 लॉन्ग-टर्म कैमरा रिव्यु:

OnePlus 6 का कैमरा अपनी कीमत के हिसाब से पहले दिन से ही काफी बेहतर साबित होता आया है और समय के साथ-साथ कंपनी द्वारा सॉफ्टवेयर अपडेट प्राप्त होने से कैमरा प्रदर्शन और भी बेतार होता जा रहा है। गूगल लेंस को OnePlus 6 के कैमरा एप्लीकेशन के साथ दिया गया है। समय के साथ-साथ डिवाइस के लो-लाइट परफॉरमेंस और विडियो रिकॉर्डिंग की क्वालिटी में भी काफी सुधार देखने को मिला है।

इस कीमत में, OnePlus 6 का कैमरा आपको काफी बेहतर डायनामिक रेंज और सटीक मीटरिंग उपलब्ध कराता है। लो-लाइट में अपने आप ISO के साथ इमेज क्लिक होती है ताकि संतुलित एक्सपोज़र प्राप्त हो सके लेकिन आपको आउटपुट थोडा सॉफ्ट और नॉइज़ के साथ प्राप्त होता है ख़ासकर इमेज को बड़ी स्क्रीन पर देखने पर यह महसूस होता है। पीछे की तरफ दिए गये एक्स्ट्रा सेंसर का भी थोडा कम इस्तेमाल किया गया है क्योकि पोर्ट्रेट मोड में आपको थोडा और सुधार की अपेक्षा रहती है।

OnePlus को अभी भी थोडा और बेहतर कैमरा प्रदर्शन की जरुरत है क्योकि यह डिवाइस Google Pixel और Samsung के फ्लैगशिप फ़ोनों को टक्कर देती है। OnePlus 6T का कैमरा प्रदर्शन देखने के लिए हम काफी उत्साहित है।

OnePlus 6 लॉन्ग-टर्म रिव्यु: बैटरी और ऑडियो

पहले दिन से ही हम OnePlus 6 की बैटरी लाइफ को लेकर काफी खुश थे और 6 महीने बाद भी हमको कोई बदलाव महसूस नहीं होता है। 3,300mAh की बैटरी दी गयी है जो आपको 20W डैश चार्जर के साथ दी गयी है। ज्यादा इस्तेमाल करने पर भी हमको लगभग 1 दिन का बैकअप प्राप्त करने में सक्षम होते है। सबसे जरूरी और हमेशा की तरह डैश चार्जर काफी आकर्षक और बेहतर साबित होता है।

नए OnePlus 6T में कंपनी 3.5mm ऑडियो जैक को जगह नहीं देगी जिसका सीधा मतलब है की OnePlus 6 यहाँ पर कंपनी द्वारा पेश किया गया आखरी 3.5mm ऑडियो जैक वाला स्मार्टफोन है। OnePlus इस अतिरिक्त जगह का इस्तेमाल बड़ी बैटरी देने के लिए कर सकता है। अगर आपको वायरलेस एको-सिस्टम की आदत नहीं है या आपकी प्राथमिकता अलग है तो OnePlus 6 एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है।

OnePlus 6 लॉन्ग-टर्म रिव्यु: निष्कर्ष

रिव्यु करने के लिए हमको हमेशा अलग-अलग डिवाइसों का इस्तेमाल करना पड़ता है लेकिन पिछले 6 महीनों में हम जब भी OnePlus 6 पर वापस आते थे तो हमको अच्छा लगता है। अभी के लिए हम इतना जरुर कह सकते है की OnePlus 6 के यूजर को अभी कुछ समय तक तो अपनी डिवाइस को अपडेट करने की जरूरत महसूस नहीं होगी। कैमरा के मामले में हम कह सकते है की यह 2018 के फ्लैगशिप फ़ोनों से थोडा सा पीछे दिखाई पड़ता है लेकिन उसके अलावा हर मामले में यह डिवाइस काफी बेहतर प्रदर्शन के साथ आगे ही दिखाई पड़ती है।

खूबियाँ

  • शानदार प्रदर्शन
  • आकर्षक डिजाईन और बिल्ड क्वालिटी
  • सॉफ्टवेयर और बैटरी लाइफ

कमियाँ

  • मोनो स्पीकर

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here