अप्रैल महीने में होने वाले इलेक्शन को देखते हुए लगभग सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म कुछ न कुछ अलग करने में लगे हुए है और फेसबुक के बाद Whatsapp ने भी फेस न्यूज़ से लोगो को बचाने के लिए एक नयी सर्विस की शुरुआत कर दी है।

फेसबुक के स्वामित्व वाली WhatsApp को हमेशा से ही अफवाहें फ़ैलाने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा है। और इसी चीज को रोकने के लिए अब कंपनी ने एक नयी Tipline फैक्ट-चेक सर्विस को शुरू किया है जो किसी भी तरह की न्यूज़ की जाँच करके आपको बताएगी की ये फेक है या रियल।

यह भी पढ़िए: 48MP के साथ उपलब्ध साल 2019 के बेस्ट स्मार्टफोन

WhatsApp Tipline: कैसे कर पाएंगे इसका इस्तेमाल?

व्हाट्सएप ने यह सर्विस एक इंडियन स्टार्टअप PROTO के साथ मिलकर शुरू की है जो अफवाहों और फेक न्यूज़ को जांचे जाने के लिए एक डेटाबेस को बनाएगा। आप CheckPoint Tipline सर्विस नंबर +919643000888 पर मेसेज भेज सकते है जिसके बाद आपको रिप्लाई मिल जायेगा की यह फेक है या रियल।

यहाँ पर आपको इमेज, विडियो, लिंक और टेक्स्ट मतलब सभी फोर्मेट में रिव्यु का विकल्प मिलता है। अभी के लिए यह सर्विस अंग्रेजी के अलावा हिंदी, मलायलम, तेलगु और बंगाली भाषओं में भी उपलब्ध है। PROTO यहाँ पर सभी इलाकों में छोटी-छोटी आर्गेनाइजेशनों के साथ मिलकर Tipline सर्विस को और बेहतर बनाने का काम भी कर रही है।

इस से पहले व्हाट्सएप्प ने सिक्यूरिटी को ध्यान में रखते हुए लिमिट फॉरवर्ड मेसेज, फॉरवर्ड  मेसेज लेबल जैसे फीचर उपलब्ध करवाए है। आने वाले अपडेट में आपको 4 बार से ज्यादा फॉरवर्ड किये गये मेसेज पर “Frequently Forwards” लिखा आ सकता है। इसके अलावा आपको डार्क मोड, फिंगरप्रिंट सिक्यूरिटी जैसे फीचर भी मिल सकते है।

यह भी पढ़िए: कैसे बनाये अपनी फोटो का पर्सनल WhatsApp स्टीकर; जाने पूरी प्रक्रिया 

फेसबुक से जुड़े डाटा-स्कैंडल एयर US इलेक्शन में हुए विवाद के बाद से फेसबुक और अन्य टेक कंपनी भी जाँच के दायरे में आ चुकी है। अब यह तो देखने वाली ही बात है की आगामी सिक्यूरिटी के लिए उठाये गये कदम कितने कामयाब होते है आपको क्या लगता है नीचे कमेंट सेक्शन में जरुर बताये।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here