रिलायंस के जिओ फीचर फोन जिसको JioPhone के नाम के साथ लांच किया गया था जो भारतीय बाजारों में काफी लोकप्रिय हुआ था। KaiOS ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित जिओ फ़ोन अब और बेहतर होने वाला है क्योकि KaiOS ऑपरेटिंग सिस्टम में अमेरिकी की दिग्गज कंपनी गूगल ने 2.2 करोड़ डॉलर का निवेश किया है जिसके जरिये गूगल अपनी सर्विस जैसे सर्च,मैप्स आदि को ऐसे लोगो तक पहुँचाना चाहता है जो लोग स्मार्टफोन उपयोग नहीं कर सकते।

KiaOS और Google की डील

KaiOS एक वेब-बेस्ड प्लेटफार्म ऑपरेटिंग सिस्टम है जो HTML 5, JavaScript और CSS जैसे ओपन स्टैंडर्ड्स का उपयोग करती है। यह इंडिया में जनवरी 2018 को लांच किया था और 15% मोबाइलOS मार्किट शेयर का आकंडा भी पार कर गया है।

कल प्राप्त रिपोर्ट्स के अनुसार कंपनी में गूगल ने लगभग 22 मिलियन डॉलर का निवेश किया है। डील के अनुसार KaiOS गूगल की सर्विस जैसे सर्च, मैप्स, यूट्यूब, और वौइस अस्सिटेंट को अपने ऑपरेटिंग सिस्टम में जगह देगा। रिलायंस का जिओ फ़ोन KaiOS आधारित स्मार्ट फीचर के साथ आता है जिसका मतलब साफ़ है की आपको जल्द ही जिओ फोन में भी गूगल की यह सुविधाएँ देखने को मिल सकती है।

KaiOS ने कई OEM जैसे TCL, HMD ग्लोबल और माइक्रोमैक्स के साथ भी पार्टनरशिप भी की है। जिसके निकट भविष्य में इन सभी कंपनियों के फीचर फ़ोनों में भी आपको गूगल सर्विसेज देखने को मिल सकती है।

Jio Phone के फीचर

भारतं में रिलायंस द्वारा जुलाई 2017 को पेश किये गये JioPhone में आपको 2.4-इंच की QVGA TFT डिस्प्ले दी गयी थी। प्रोसेसर के तौर पर ड्यूल-कोर प्रोसेसर का इस्तेमाल करते हुए 512MB रैम और 4GB इंटरनल स्टोरेज की सुविध अभी दी गयी थी जिसको आप 128GB तक बढ़ा भी सकते है। Jio फोन में आपको कुछ पहले से इनस्टॉल एप्लीकेशन जैसे जिओ टीवी, जिओ म्यूजिक, और जिओ सिनेमा आदि को 4G कनेक्टिविटी के साथ इस्तेमाल करने की सुविधा भी मिलती है।

KaiOS टेक्नोलॉजी के सीईओ Sebastien Codeville ने कहा, “यह फंडिंग हमें KaiOS-सक्षम स्मार्ट फीचर फोन के विकास में तेज़ी गति प्रदान मदद करेगी, जिससे हमें खासकर उभरते बाजारों में उस बड़ी आबादी को जोड़ने की इजाजत मिलती है जो अभी भी इंटरनेट तक नहीं पहुंच सकता है।”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here