Meta और ONDC की पार्टनरशिप से देश के छोटे व्यापारों को विकास के लिए मिलेगा एक बेहतर प्लेटफॉर्म

Main Image
  • Like
  • Comment
  • Share

 आज भारत में Meta और ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ONDC) ने अपनी पार्टनरशिप की घोषणा की, जिससे भारत के छोटे पैमाने पर व्यापार करने वाले लोगों को एक डिजिटल मंच मिल सके। इस साझेदारी से न केवल छोटे उद्योगों बल्कि ग्राहकों को भी फायदा पहुंचेगा। 

साथ ही घोषणा में ये भी कहा गया कि Meta के बिज़नेस और तकनीकी सोल्यूशन प्रदाताओं द्वारा विक्रेताओं (sellers) या व्यापारियों को इस नेटवर्क से कैसे जुड़ना है या इसका भरपूर इस्तेमाल कैसे करना है, इसको लेकर ट्रेनिंग दी जाएगी। Meta और ONDC की साझेदारी के बाद, Meta के सभी प्रोडक्ट्स यानि Instagram, Meta और सबसे ज़रूरी WhatsApp पर आपको ONDC की सुविधा मिल सकेगी। 

ये पढ़ें: WhatsApp पर Passkey के साथ बढ़ेगी और सुरक्षा ? जानें कैसे करें इस्तेमाल

अब प्रश्न ये है कि कैसे ? दरअसल, ONDC यहां seller ऐप्स द्वारा इन व्यापारियों की मदद करेगा, जिससे वो अपने व्यापार या अपनी सर्विस को लोगों तक पहुंचा पाएंगे। वहीँ ग्राहकों के लिए buyers app होगी और इस तरह से इस ONDC नेटवर्क पर दोनों जुड़ सकेंगे। 

ये पढ़ें: WhatsApp Chat Lock : WhatsApp पर अलग-अलग चैट कैसे लॉक करें

Meta का कहना है कि अगले दो सालों में वो भारत के पांच लाख छोटे व्यापारियों को Meta Small Business Academy द्वारा पूरी तरह से ट्रेन या शिक्षित करेंगे। 

Meta और ONDC की इस साझेदारी पर Meta की वाईस प्रेज़िडेंट संध्या देवनाथन का कहना है कि हमारी और ONDC की साझेदारी सरकार के डिजिटल पब्लिश इंफ्रास्ट्रक्चर के उद्देश्य का समर्थन करती है, जिसके साथ हम देश के छोटे व्यापारों को तेज़ी से डिजिटल मंच पर आने के लिए तैयार करने की कोशिश करेंगे, जिससे देश में डिजिटल परिवर्तन और विकास तेज़ी से लाया जा सके। 

इस Meta और ONDC की साझेदारी के तहत, मेटा भी ONDC के WhatsApp चैटबॉट सहायक का समर्थन करेगा, जिससे ये चैटबॉट द्वारा व्यापारियों और ग्राहकों के बीच बातचीत का एक प्रमुख सोर्स होगा और इस सर्विस को बढ़ावा देगा।

अधिक जानकारी के लिए आप Smartprix को TwitterFacebookInstagram, और Google News पर फॉलो कर सकते हैं। मोबाइल फोन, टेक, गाइड या अन्य खबरों के लिए आप Smartprix पर भी विज़िट कर सकते हैं।

Pooja ChaudharyPooja Chaudhary
Pooja has been covering technology and gadgets for more than 5 years. Most of her work has been centred around smartphones and smartphone apps, but she occasionally likes to dabble with content on people and relationships. She is also a bit of a TV junkie and is often trying to make time to catch up with her favourite shows and classic movies.

Related Articles

ImageNothing Phone (2) का ये मुख्य स्पेसिफिकेशन लीक हुआ

Nothing Phone (1) को लॉन्च के समय मिली-जुली प्रतिक्रियाएं मिलीं, लेकिन फ़ोन अपने अनोखे डिज़ाइन के कारण काफी पॉपुलर हुआ। अब कंपनी ने Mobile World Congress (MWC) 2023 के दौरान अपने दूसरे स्मार्टफोन की घोषणा भी कर दी है। खुद कंपनी ने फाउंडर Carl Pei ने इस स्मार्टफोन की घोषणा की है और ये भी …

Imageभारतीय ई-कॉमर्स बाज़ार में Amazon, Flipkart का राज खत्म करने के लिए सरकार ने लॉन्च की है ONDC, जानें इसके बारे में सब कुछ

भारत में ऑनलाइन शॉपिंग या ई-कॉमर्स के क्षेत्र में Amazon और Flipkart का राज रहा है। लेकिन अब भारत सरकार ने तेजी से बढ़ते ई-कॉमर्स के बाज़ार में इन कंपनियों को टक्कर देने के लिए एक स्वदेशी और सरकारी Open Network for Digital Commerce (ONDC) लॉन्च किया। लेकिन अब ताज़ा खबर ये कि Flipkart, Reliance …

ImageSwiggy और Zomato की होगा नाक में दम, और भी कम दामों पर ये प्लैटफॉर्म कर रहा है फ्री फ़ूड डिलीवरी

भारत में ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी के बाज़ार पर केवल दो कंपनियों Swiggy और Zomato का ही कब्ज़ा है। दोनों अपनी अपनी तरह से ग्राहकों को रिझाने का कोई मौका नहीं छोड़तीं, जैसे कि कई तरह के डिस्काउंट, कूपन, इत्यादि। लेकिन अब सरकार इनकी लगाम कसने को तैयार है और इसीलिए भारत सरकार ने एक नया …

Imageपासपोर्ट के लिए किया हुआ है अप्लाई और जानना चाहते हैं कि कहाँ तक पहुंची आपकी एप्लीकेशन – अपनाएं ये आसान तरीके

आपको देश से बाहर कहीं भी जाना हो, तो पासपोर्ट एक सबसे ज़रूरी डॉक्यूमेंट है, जो बाहर देश में आपके देश की सरकार द्वारा जारी प्रमाण पत्र के रूप में काम आता है। पासपोर्ट के बिना आप किसी भी अंतर्राष्ट्रीय सफर की योजना नहीं बना सकते। पहले पासपोर्ट और बाद में आप जहां जाना चाहें, …

Imageटोल की लाइनों में लम्बे इंतज़ार से बचने के लिए इस तरह करवाएं FASTag KYC

NHAI हाल ही में “One Vehicle, One FASTag” को पेश किया था, जिससे लोग एक वाहन या गाड़ी पर कई FASTag या कई गाड़ियों पर एक ही FASTag का उपयोग न कर सकें। इसका उद्देश्य है इलेक्ट्रॉनिक टोल सिस्टमों पर ट्रैफिक का फ्लो बना रहे और लोगों को यहां किसी समस्या के चलते इंतज़ार न …

Discuss

Be the first to leave a comment.