Reliance Jio ने Radisys Corporation और Qualcomm के साथ कोलैबोरेशन के तहत देश में 5G के ट्रायल शुरू कर दिए है। सभी कंपनियों ने वर्चुअल समिट के जरिये इंडिया में 5G सर्विस और इंफ्रास्ट्रक्चर से जुडी चर्चा भी की है।

यहाँ पर Jio 5G NR जो क्वालकॉम 5G RAN का सलूशन है, का भी टेस्ट किया है। टेस्ट में आपको 1Gbps तक की मिलती है। कंपनी ने जिओ की उपलब्धियों की भी बात करी और  इंडिया में अपनी गीगाबिट 5G प्रोडक्ट पोर्टफोलियो के बारे में भी जानकारी दी।

इस टेस्टिंग के साथ इंडिया पर US, साउथ कोरिया, गेर्मेन्य ऑस्ट्रेलिया और स्विट्ज़रलैंड जैसे देखो की लिस्ट में शामिल हो गया है।

रिलायंस जियो के प्रेसिडेंट मैथ्यू ओमान ने क्वालकॉम इवेंट मे कहा कि क्वालकॉम और रिलायंस की सब्सिडियरी कंपनी रेडिसिस के साथ मिलकर हम 5G तकनीक पर काम कर रहे हैं, ताकि भारत में इसे जल्द लॉन्च किया जा सके। आने वाले दिनो में भारत में यूजर्स 1Gbps तक की स्पीड का मजा ले पाएंगे।

Jio का मानना है कि 5G टेक्नोलॉजी के सफल ट्रायल के बाद अब Reliance Jio भारत समेत ग्लोबल मार्केट में चीनी कंपनी Huawei की जगह ले सकती है।

इस साल जुलाई में क्वालकॉम वेंचर की इनवेस्टमेंट इकाई क्वालकॉम इंक ने जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का ऐलान किया था। क्वालकॉम ने जियो प्लेटफॉर्म्स में 0.15 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 730 करोड़ रुपए निवेश किए थे।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा था कि क्वालकॉम के साथ मिलकर जियो 5G विजन पर काम करेगी और भारत के डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन में सहयोग देगी. जियो ने कहा कि वह क्वालकॉम के साथ मिलकर देसी 5G सॉल्यूशंस और नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम कर रही है. कंपनी घरेलू 5G टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस पर काम कर रही है जिसका इस्तेमाल रिटेल और इंडस्ट्रियल सेगमेंट में होगा.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here