सिस्टम-वाइड ऑटो-फिल सर्विस को सबसे पहले एंड्राइड ओरियो के साथ पेश किया गया था। यह ऑटो-फिल फीचर ख़ास तौर पर उन् यूजर के लिए काफी उपयोगी साबित होता है जो काफी जल्दी अपनी डिवाइसों को बदलते है या तब जब आप एप्लीकेशन को दोबारा इंस्टाल करते है।

एंड्राइड प्लेटफार्म पर ऑटो-फिल सर्विस के अलावा आपको कुछ थ्रीड-पार्टी एप्लीकेशन जैसे LastPass, Keeper Password Manager, 1Password आदि मिलते है। ज्यादातर ब्रांड Google के Auto-Fill  ऑप्शन का ही इस्तेमाल करते है लेकिन सभी अपनी पसंद है जैसे सैमसंग ने भी अपने Samsung Pass को डिफ़ॉल्ट ऑटो-फिल के तौर पर सेट किया है।

आखिर क्यों चाहिए Auto-Fill सर्विस?

आपकी सोशल मीडिया या बैंकिंग से जुड़े पासवर्ड काफी ज्यादा संवेदनशील डाटा होता है जिसको आप किसी के साथ भी सहरे करना नहीं चाहते है लेकिन आप ऑटो-फिल सर्विस पर विश्वास कर सकते है। मैं निजी रूप से गूगल के ऑटो-फिल का इस्तेमाल करता है लेकिन आप अपनी पसंद के थर्ड-पार्टी पासवर्ड मैनेजर या सर्विस जैसे Samsung Pass का भी इस्तेमाल कर सकते है।

चलिए अब नज़र डालते है पूरी प्रोसेस पर:

कैसे करे Auto-Fill का इस्तेमाल

स्टेप-1: फोन में सेटिंग्स पर जाएँ।

स्टेप-2: अब आप “Language and Input” ऑप्शन पर जाएँ। यह ऑप्शन आपको सेटिंग्स में या सिस्टम सेटिंग्स या जनरल मैनेजमेंट ऑप्शन के अंदर भी मिल सकता है।

स्टेप-3: “Language and Input” मेनू के अंदर जाने पर आपको ऑटो फिल सर्विस ऑप्शन को सेलेक्ट करना होगा। इसके बाद आप अपने फोन में दिए गये ऑटो-फिल ऑप्शन का इस्तेमाल कर सकते है या गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड भी कर सकते है।

अब आप इस सर्विस को इस्तेमाल करने के लिए तैयार है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here