भारत में 5G नेटवर्क का कल यानि 1 अक्टूबर को ऑफिशियल लॉन्च है। ये लॉन्च इंडियन मोबाइल कांग्रेस (IMC) के पहले ही दिन प्रगति मैदान में होगा और 5G रोलआउट का उद्घाटन खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही करने वाले हैं। पिछले महीनों में ही सरकार ने लगभग 1.56 लाख करोड़ के 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी की है, जिसमें सबसे ज़्यादा हिस्सा Jio ने लिया और उसके बाद Airtel और Vi ने सबसे ज़्यादा स्पेक्ट्रम खरीदें हैं। भारत में सबसे पहले मेट्रो सिटी निवासियों के लिए 5G सर्विस उपलब्ध होगी और उसके बाद धीरे धीरे पूरे देश में। आइये जानते हैं कि आने वाले 5G रोलआउट को लेकर क्या कुछ नया होगा।

ये पढ़ें: भारत में 5G से सम्बंधित सभी जवाब: कितने में हुई 5G स्पेक्ट्रम नीलामी, Jio, Airtel 5G टैरिफ प्लान के दाम, कब मिलेगा 5G नेटवर्क

ख़बर तो ये है कि इस इवेंट में Airtel और Jio 5G नेटवर्क का रोलआउट ही शामिल होगा, जबकि Vi की तरफ से 5G सर्विस शायद कुछ समय के बाद आएगी। टेलीकॉम ऑपरेटरों का कहना है कि पूरे देश में 5G सर्विस 2023-2024 में उपलब्ध होगी। वैसे दिल्ली में इंदिरा गाँधी हवाई अड्डे पर आप अभी से 5G नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। जी हाँ, कल के ऑफिशियल रोलआउट होने से पहले ही दिल्ली में Indira Gandhi International Airport (इंदिरा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा) पूरी तरह से 5G रेडी है और और यहां यात्री 5G नेटवर्क का एक अनुभव ले सकते हैं।

5G रोलआउट

आसार हैं कि इस मौके पर 1 अक्टूबर 2022 को प्रधानमंत्री के अलावा Jio से मुकेश अम्बानी, Airtel से भर्ती मित्तल भी वहीँ मौजूद होंगे। साथ ही इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रोद्योगिकी मंत्री व अन्य कुछ प्रमुख नेताओं की मौजूदगी में ये कार्य पूरा होगा।

5G सर्विस में सबसे महत्वपूर्ण रोल यहां Jio का हो सकता है, क्योंकि कंपनी ने कहा है कि दिवाली के आस-पास से ही मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु और हैदराबाद जैसे शहरों में 5G सर्विस लोगों तक पहुंचेगी। साथ ही ये वो कंपनी भी है, जिसने आधे से ज़्यादा स्पेक्ट्रम नीलामी के दौरान खरीदें हैं। Jio अपने इस 5G रोलआउट प्रोजेक्ट में और भी 2 लाख करोड़ का निवेश करने की तैयारी में हैं।

Airtel का उद्देश्य भी कुछ Jio जैसा ही है और ये भी मेट्रो सिटीज़ में ही पहले 5G सर्विस देंगे, उसके बाद 2023-24 में ये पूरे देश में आएगी। इस कंपनी ने नीलामी के दौरान 19867.8MHz स्पेक्ट्रम अपने नाम किये हैं, जिनमें 900MHz, 1800MHz, 2100MHz, 3300MHz, और 26GHz की फ्रेक्वेंसी शामिल हैं।

अब अगर रिचार्ज की बात करें तो, आसार यही हैं कि 5G डाटा के साथ रिचार्ज प्लान महंगे हो सकते हैं, हालांकि ये शुरू में बहुत ज़्यादा महंगे नहीं होंगे। लेकिन लोगों के 5G डाटा के कुछ समय के अनुभव के बाद इनकी कीमतें बढ़ना संभव है। अब इस इवेंट में बस कुछ ही घंटे बाकी है, देखना ये है कि ये कम्पनियां कल 5G रोलआउट के बाद क्या नयी घोषणाएं करती हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें